Vaidik Gyan...
Total:$776.99
Checkout

इसे काहते हैं चमचा गिरी

Share post:

|| इसे कहते हैं चमचा गिरी ||
दूरदर्शन के कई चेनलों में यह दिखाया जा रहा है की इस कोरोना वायरस से किसी एक हिन्दू बुजुर्ग की मौत हुई | उसे दाह संस्कार कराने के लिए ले जा रहे हैं मुस्लिम समाज के लोग |
इसे न्यूज़ चेनल में बहुत प्रचार किया जा रहा है और यही है भाई चारा, और यह भाई चारा इस्लाम में है लोग तो इस्लाम को बदनाम करते हैं आदि आदि बोला जा रहा है |
मैं आज उन दूरदर्शन वालों से लेकर जितने भी सेकुलर वादी लोग हैं और इस भाई चारा के नाम से इस्लाम की भलाई के प्रचार में जुटे हैं उन सभी से मेरा सवाल है, की इस्लाम वालों ने जिन हिन्दू बुजुर्ग को शमशान ले जा रहे हैं दाह संस्कार के लिए, क्या इस कार्य को करने की अनुमति इस्लाम में है ?
इस्लाम का दारोमदार है कुरान अर्थात इस्लाम की मान्यता है कुरान पर अक्षरश: विश्वास करना, कुरान में बताई या लिखी गई बात को पत्थर की लकीर मानना ही इस्लाम की मान्यता है | अगर कुरान मुसलमानों की मान्य किताब है पुस्तक है, तो क्या कुरान में अल्लाह ने मुसलमानों को अनुमति दी है, की हिन्दू के जनाजे को लेकर शमशान जाव ?
कुरान में क्या है देखें जिसे अल्लाह का फरमान बताया जाता है,इसे बिना जाने ही लोग चमचा गिरी में लगे हैं |
وَلَا تُصَلِّ عَلَىٰ أَحَدٍ مِّنْهُم مَّاتَ أَبَدًا وَلَا تَقُمْ عَلَىٰ قَبْرِهِ ۖ إِنَّهُمْ كَفَرُوا بِاللَّهِ وَرَسُولِهِ وَمَاتُوا وَهُمْ فَاسِقُونَ [٩:٨٤]
और (ऐ रसूल) उन मुनाफिक़ीन में से जो मर जाए तो कभी ना किसी पर नमाजे ज़नाज़ा पढ़ना और न उसकी क़ब्र पर (जाकर) खडे होना इन लोगों ने यक़ीनन ख़ुदा और उसके रसूल के साथ कुफ़्र किया और बदकारी की हालत में मर (भी) गए
وَلَا تُعْجِبْكَ أَمْوَالُهُمْ وَأَوْلَادُهُمْ ۚ إِنَّمَا يُرِيدُ اللَّهُ أَن يُعَذِّبَهُم بِهَا فِي الدُّنْيَا وَتَزْهَقَ أَنفُسُهُمْ وَهُمْ كَافِرُونَ [٩:٨٥]
और उनके माल और उनकी औलाद (की कसरत) तुम्हें ताज्जुब (हैरत) में न डाले (क्योकि) ख़ुदा तो बस ये चाहता है कि दुनिया में भी उनके माल और औलाद की बदौलत उनको अज़ाब में मुब्तिला करे और उनकी जान निकालने लगे तो उस वक्त भी ये काफ़िर (के काफ़िर ही) रहें
यह प्रमाण कुरान में देख लें सूरा तौबा आयात 84 और आयात 85 को | यहाँ अल्लाह ने मुसलमानों से स्पष्ट मना किया है की काफिरों के जनाजे में मत जाव उनके कबर पर न जाव उनके बच्चों के रोने पीटने से कहीं उनपर तुम लोग सत्य से या कुरान से और अल्लाह से कहीं दूर न हो जाव | कितना बड़ा धोखा हो रहा है हिन्दुओं के साथ जो लोग इसे भाई चारा कहते हैं उनसे मेरी विनती है की मेरे इस लेख को पढ़े और सत्य क्या है उसे जानें |
महेन्द्रपाल आर्य

Top