Vaidik Gyan...
Total:$776.99
Checkout

इस्लाम के साथ समानता, बाईबिल से है,ना कि हिन्दू से |

Share post:

इस्लाम के साथ समानता, बाईबिल से है,ना कि हिन्दू से

धर्म प्रेमी सज्जनों तथा मेरे साथ जुड़े सभी भाई और बहनों, और मात्री शक्ति, आप लोग इतने दिनों से देख और सुन रहे हैं, डॉ0 जाकिरनाईक को जिसे इस्लाम वालों ने अपना सराखों पर बिठाया हुवा है आदि | इस भारत में रहते बहुत हिन्दू युवा,और युबतियों को मुस्लमान बनाया, और बहुत ज़ोर व शोर से इसी भारत में उन्हों ने अपना जाल विछाया था भारत सरकार ने उसपर प्रति बन्ध लगाया है | पर यह मत समझना कि प्रतिबन्ध मोदी सरकार में लगी, प्रबंध लगी 2012 में उनदिनों सरकार और कि थी |

मैं प्रतिबन्ध लगने से, पहले ही उसे घेरा था, मेरी जो घिराव थी वह वैदिक मान्यता,को लेकर थी | उन्हों ने semilarityजो मुसलमान बताने लगे,अर्थात हिन्दूइसम और इसलाम मे समानता है, कहने का मैंने विरोध किया, उन्हें घेरा था | वेद में मुहम्मद का नाम है कहने का मैंने विरोध किया था, सुदर्शन न्यूज़ चेनल में उसके कई वर्षों के बाद लगा उसपर प्रतिबन्ध |

आज कई दिनों से अप लोग मेरे डाले गये विडिओ को भी देख और सुन रहे हैं, आज भी मैंने एक विडिओ अभी अभी बनाया हैं जो बंगला देश में डॉ0 जाकिरनाईक बोल रहे हैं उसे सामने रखकर बहुत सारा प्रमाण दिया हूँ | जो विडिओ बनाया उसे आज शाम तक आप लोगों के सामने प्रस्तुत कर देंगे |

एक गणितज्ञ हैं जिसे वह इस्लाम समझा रहे हैं, एक महिला को भी इस्लाम समझा रहे हैं उसे सामने रख कर मैंने तर्क के आधार पर प्रमाणों को प्रस्तुत किया है, जी यह.जाकिरनाईक कह रहा है, हिन्दूइस्म मे और इस्लाम में समानता है | उसीका जवाब देते हुए, मैंने बोला यह तो झूठ है कल वाला विडिओ में आप लोग जरुर सुने होंगे | आज कुछ प्रमाणों के साथ बोला हूँ और कुछ नये प्रमाण भी जोड़ा है | मैंने कहा इस्लाम के साथ ईसाइयत का तो मेल है,किन्तु हिन्दुओं के साथ कहाँ मेल है ? कुरान के साथ बाईबिल का तो मेल है, किन्तु कुरान के साथ वेद का मेल कहाँ है ?

आज मैंने कुरान कि मान्यता,और बाईबिल में कुरान से समानता को सुनाया, और दिखाया कि कुरान और बाईबिल दोनों ही आसमानी माना है | ईसाई व मुस्लमानों में,इसलिए मेल होना भी स्वाभाविक है | हिन्दू इसे आसमानी नही मानता, मेल होना भी नही है, बाईबिल में आदम से लेकर ईसा तक कि कहानी है, और कुरान में अदम से लेकर मुहम्मद तक कि कहानी है | क्या है और कैसा है उसी पर ही आज मैंने विडिओ बनाया, टेक्निकल कार्य बाकि है शाम तक करदुंगा | जिस बंगला देश में जाकिरनाईक हिन्दू महिला को इस्लाम की  जानकारी दे रहा है उसी का जवाब मैंने दिया | कि आज हमारे घरसे लड़कियां मुस्लमान बन रही हैं उसका कारण सिर्फ अनभिज्ञता ही है | मैंने प्रमाण के लिए हिन्दू घरके बेटीओं को कहा अप लोगों को योदाबाई बनना है | जिन्हों ने अपने प्रश्नों से अकबर बादशाह जैसों को निरुत्तर किया था |

उसकाल में अकबर बादशाह ने सभी बड़े से बड़े मुफ्तियों को बुलाया, उनलोगों के सामने वेद और उपनिषदों को सामने रख कर सवाल किया | सबके सब निरुत्तर होने के बाद,अकबर ने वीरबल को बुलाकर कहा था | वीरबल तुम अपनों में मुझे मिलालो, उस मुर्ख वीरबल ने गधा को घोड़ा बनाने का उधाहारण,दिया | मुस्लमान हिन्दू कैसे बनोगे ? फिर अकबर बादशाह ने दीने इलाही नाम कि एक संस्था बनाई और इस्लाम से मोह भंग हो गया था, ऐसा कहा जाता है | कुल्लियाते आर्य मुसाफिर पुस्तक में panditलेख राम जी ने भी लिखा है |

आज भी हमारे घर से जो बेटीयां मुस्लमान बनने जा रही हैं उनसे मेरी यही विनती हैं मुस्लमान बनने से पहले एक बार अपने पूर्वजों को पढ ले, नहीं होता तो मुझसे सम्पर्क करलें मैं बता दूंगा इन्हें निरुत्तर करने का उपाय क्या है और कैसा है ? हिन्दुओं कान खोल कर सुनना अगर वीरबल अकबर को अपनों में मिलालेता, तो पाकिस्तान का जन्म नही होता, और ना यह पाकितानी आतंकवादी पैदा होते ? यही कमी हिन्दुओं में है यह कभी भी सत्य को नही माना,जानने का भी प्रयास नही किया |

जो इन्हें बचाने के लिए आता है उन्हें यह दुश्मन समझते हैं,अगर उनदिनों में हिन्दू सत्य को मान लेते तो आज आये दिन हिन्दू लडकियाँ मुसलमानों के चंगुल में न फंसती और न कहीं 32 टुकड़े किये जाते | यह तो एक घटना अभी सामने आया है इस प्रकार कि घटनाएं रोज होती रहती है और अनेक हुआ भी है |

किन्तु दुर्भाग्य यह है इन सभी घटनाओं से हिन्दू कहलाने वालों ने कोई शिक्षा नहीं लिया, और न अपने बेटियों को संभाल पाए | जिसका जीता जागता प्रमाण, अहमद बुखारी का बेटा  हिन्दू लड़की को मुसलमान बनाकर शादी की है न जाने कितनी हिन्दू घराने के लडकियां मुसलमानों के घर चली जाती हैं ऋषि दयानंद जी ने भली प्रकार समझाया हिन्दुओं को लेकिन हिन्दू ऋषि दयानन्द को ही ठुकरा दिया, और स्वामी विवेकानंद को ला खडा किया कि जिन्हों ने इस्लाम के पक्ष में अपना बयान दिया और इस्लाम कि प्रशंसा कि है |

हिन्दू सब कुछ देख कर सुनकर भी अनजान बने हुए है, अब दयानंद नहीं आयेंगे हिन्दुओं को बचाने के लिए | हिन्दू अगर आज भी बचना चाहता है तो एक ही मात्र रास्ता है वैदिक पथ का अनुसरण, वेद कि मान्यता ही हिन्दुओं को बचा सकता है | हिन्दू इसे जानना नहीं चाहता यह हिन्दू कबूतर बन कर बिल्ली को देख आँखें बन्द कर बैठ गये कि बिल्ली उसे नहीं देख रही है | हम तो बता ही सकते हैं जगा ही सकते हैं मानना न मानना आप लोगों का काम है |

महेन्द्रपाल आर्य =वैदिकप्रवक्ता = 1711/22=

 

Top