Vaidik Gyan...
Total:$776.99
Checkout

एक तरफ बताया अल्लाह इंसान से बात नहीं करते, जब की मूसा से बातें की उसकी जुटी भी देख लिया |

Share post:

अल्लाह किसी से बात नहीं करते बताया |
यहाँ अल्लाह बात कर रहे हैं देखें ||
 
وَمَا كَانَ لِبَشَرٍ أَن يُكَلِّمَهُ ٱللَّهُ إِلَّا وَحْيًا أَوْ مِن وَرَآئِ حِجَابٍ أَوْ يُرْسِلَ رَسُولًۭا فَيُوحِىَ بِإِذْنِهِۦ مَا يَشَآءُ ۚ إِنَّهُۥ عَلِىٌّ حَكِيمٌۭ ٥١
अर्थ :-और नहीं संभव है किसी मनुष्य के लिए कि बात करे अल्लाह उससे, परन्तु वह़्यी द्वारा, अथवा पर्दे के पीछे से अथवा भेज दे कोई रसूल (फ़रिश्ता), जो वह़्यी करे उसकी अनुमति से, जो कुछ वह चाहता हो। वास्तव में, वह सबसे ऊँचा (तथा) सभी गुण जानने वाला है । 42,51
 
किसी इंसान के साथ बात नहीं कर सकते या नहीं करते, हाँ अल्लाह अगर बात करते हैं तो परदे के पीछे से | कुरान को पढ़कर देखें यह कलाम सिर्फ अल्लाह का नहीं है अल्लाह वार्ता करते हैं शैतान से अपने फरिश्तों से, और अपने पैगम्बरों से भी | एक दुसरे से वार्ता ही किया है पूरी कुरान यही हैं, इसे सिर्फ अल्लाह की कलाम कहा जाना सम्भव ही नहीं है | इसमें भी अल्लाह ने अपना पैगम्बर मूसा को बुलाया अपने पास मिलने के लिए |
और मूसा जा रहा था जूता पहनकर अल्लाह ने देख लिया मुसको जूता पहन कर जाते | अल्लाह ने मूसा से कहा जूता खोल कर आओ, इससे तो अंदाजा लगाया जा सकता है की अल्लाह शारीर धारी है, अल्लाह लोगों से बात करते हैं जो मूसा से बातें की | महेन्द्र पाल आर्य =8/9/22

Top