Vaidik Gyan...
Total:$776.99
Checkout

कुरान की बात जो मानें वही ईमानदार

Share post:

कुरान की बात आँखें बंद कर जो माने वही मुस्लमान हैं ||
कुरान की सूरा कलम के प्रथम आयातों में इसकी गप्पें तो कल देख लिया था की अल्लाह बिना विचार किये अपनी बातों को कुरान में वर्णन किया है |
 
शायद अल्लाह ने यह मान कर अपनी बात कही की तेरी बातों को सब मानव कहलाने वाले सच ही मान लेंगे |
 
कुरान की विज्ञानं विरुद्ध बातो को सच मानने वाले ही ईमादर कहलाते हैं | अब वह बातें सृष्टि नियम विरुद्ध ही क्यों न हो उसे मानना ही पड़ेगा कारण ईमानदार जो कहलाना है | देखें >
कुरानी आयातों को अब तक पढ़कर देखा होगा आप लोगों ने की अल्लाह कि बातें कैसी हैं ? जिस बात को अल्लाह खुद करें उसी बात से रोक रहे हैं मुसलमानों को |
 
जैसा बार बार कसम खाने को मना किया और अल्लाह न मालूम कितने बार कसम खाई होगी | और विशेष कर इस सूरा कलम को प्रथम से आप लोगों ने देखा होगा कि किस प्रकार बेतुकी बातें अल्लाह ने अपनी कुरान में कही हैं ?
 
अल्लाह की मछली धरती से बड़ी है जो इस धरती को अपने ऊपर ले रखी है | साधारण इंसान भी इस बात को जानता होगा की जो चीज धरती से बड़ी हो वह धरती पर समा नहीं सकती |
 
और अल्लाह की यह धरती एक मछली पर टिकी है, फिर उसपर एक बैल है जिसका चालीस हज़ार सिंग बताया गया यह बातें मानने लायेक हैं क्या ?
 
इसे दुनिया के लोग अल्लाह की कलाम कहते हैं, अल्लाह की बातें किस प्रकार असत्य हैं देखें |
अल्लाह ने कलम बनई उसे लिखने को कहा, पर कलम किस चीज से बनाई गई कुछ भी नहीं लिखा और न बताया अल्लाह ने |
दूसरी बात है की कलम के बनाने मात्र से लिखना संभव नहीं होगा स्याही चाहिए कलम बेजान चीजें है उसे कहने पर भी उससे लिखना संभव नहीं है |
इस प्रकार की बेतुकी बातें कुरान की है जिसे आप लोग इसी कुरान में पढ़ रहे हैं, और इसे माननेवाले ही मुसलमान कहलाते हैं | महेंद्र पाल आर्य 30/4/22

Top