Vaidik Gyan...
Total:$776.99
Checkout

यह है 2013 में वीर सावरकर वीरपुरस्कार से सम्मानित किया गया कांची के शकाराचार्य द्वारा पुणे के तिलक हाल में |

Share post:

यह है 2013 में वीर सावरकर वीरपुरस्कार से सम्मानित किया गया कांची के शकाराचार्य द्वारा पुणे के तिलक हाल में |
यह सम्मान मेरे किसी भी विरोधी को नहीं मिला अब वह दीनदयाल गुप्ता हो अथवा दिल्ली सभा के मंत्री विनय आर्य हो या किसी और को |
सम्मानित काम करने पर किया जाता है काम किये बिना किसी को सम्मान नहीं मिला और न मिलने की उम्मीद |
 
और भी कई जगह से सम्मानित किया गया, सत्यार्थ प्रकाश केस को अपने वकीलों के साथ दिल्ली हाईकौर्ट से जीत दिलाने के बाद पहाड़गंज आर्य समाज में सम्मानित किया गया | मुंबई सभा द्वारा श्री बाबु मिठाई लाल जी ने सम्मानित किया | अजमेर की प्रोपकारणी सभा द्वारा सम्मानित किया गया | 2014 में दिल्ली केन्द्रीय सभा ने MDH प्रमुख महाशय धर्मपाल जी ने सम्मानित किया |
 
मेरे किये गये कार्य में यह सभी अधिकारी दब जायेंगे 22 हज़ार से ज्यादा मुसलमानों को वैदिक धर्मी बनाया | 36 पादरियों को वैदिक धर्म में वापस लाये | 600 लड़कियों को लव जिहाद के शिकार से बचाया | 205 मुस्लिम लड़कियों को वैदिक परिवार में विवाह कराया | कितना लिखूं पूरा 39 वर्षों का लेखा जोखा मेरे पास हैं | आर्य समाज में मुलांकन नहीं है यहाँ वह लोग बैठे हैं तुभी खा और मैं भी खाऊ ऋषि विचारों को औरों तक पहुँचाना इनकी रूचि नहीं हैं |
इसका मूल कारण सबके सामने है की बंगाल के लोग आज तक आर्य समाज को नहीं जानते | मेरा थोडा प्रयास हैं कारण मैं बंगला भी जानता हूँ और हिंदी भी मेरे प्रयास में बाधक बने हैं यह तथाकथित आर्य समाज केअधिकारी बन बैठे हैं जो लोग यह लोग समाज के दीमक हैं समाज को चांट रहे हैं |
यह सिस्टम को पूरा बदलना पड़ेगा नए सिरे से काम करना होगा तभी देव दयानन्द जी का सपना साकार हो सकता हैं आयें एक जुटता दिखाएँ और इन्हें निकाल बहार करें तभी बात बन सकती है | धन्यवाद के साथ महेन्द्र पाल आर्य =30/8/22 यह मैं थोडा नमूना डाला है अब्दुल्ला तारिक से दिबेट , तारिक मुर्तुजा से डिबेट और भी कितने डिबेट मेरा मुसलमानों से ईसाईयों से हुआ हैं यह लोग सात जन्म में भी नहीं कर पाएंगे | अब्दुल्ला तारिक से जीता हुआ डिबेट धर्मपाल दिल्ली सभा के जो अब प्रधान बने हैं उन्हों ने फैसला नहीं सुनाया | अपना लाला गिरी दिखाया |

Top